Category: हिंगलाज

पितृ पक्ष या श्राद्ध पक्ष - Pitru Paksha Shraddha Paksha Hinglaj Maa

पितृ पक्ष – श्राद्ध-2020

पितरों को खुश रखने के लिए पितृ पक्ष में कुछ बातों पर विशेष ध्यान देना चाहिए। पितृ पक्ष के दौरान ब्राह्मण, जामाता, भांजा, मामा, गुरु, नाती को भोजन कराना चाहिए।

Vaidik Jyotish

पितृ पक्ष – श्राद्ध

जिन लोगों को अपने परिजनों की मृत्यु की तिथि ज्ञात नहीं होती उनके लिये भी श्राद्ध-पक्ष में कुछ विशेष तिथियाँ निर्धारित की गई हैं ।

Safalata ki Kahaniya - Success Stories

खुशियों तक पहुंचने वाले रास्ते

बहुत छोटे-छोटे सूत्र हमें जिंदगी के बड़े सबक सिखा सकते हैं। बहुत छोटे-छोटे सूत्र हमें जिंदगी के बड़े सबक सिखा सकते हैं। अमेरिकन साहित्यकार हेमिंग्वे के ऐसे ही सूत्र वाक्यों में जिंदगी का फलसफा...

Safalata ki Kahaniya - Success Stories

दूसरों के प्रति अच्छे नहीं सच्चे बनें

हमसे आर्थिक मदद की उम्मीद करते है जीवन में ऐसा सभी के साथ होता है कि हमारे नजदीकी मित्रों, रिश्तेदारों या परिचितों को किसी खास मौके पर पैसों की जरूरत होती है और वे...

Safalata ki Kahaniya - Success Stories

आखिर क्यों टूटते हैं प्यार के रिश्ते

संवेदना बनाती है हमें बेहतर एक लड़का और लड़की अक्सर यही सोचकर विवाह के बंधन में बंधते हैं कि एकदूसरे के प्रति उनकी भावनाएं कभी नहीं बदलेंगी। लेकिन समय के साथ हम बदलते हैं...

Safalata ki Kahaniya - Success Stories

सकारात्मक सोच में चिंतन का महत्व

चिंतन एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है। चिंतन एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है। इसमें नए विचार आपके दिमाग में आते हैं जो निर्णय लेने में सहायक होते हैं। चिंतन में आए विचार की तुरंत प्रतिक्रिया होती है।...

Safalata ki Kahaniya - Success Stories

स्वयं को मूल्यहीन न समझें

निराशा के क्षणों को कभी भी जीवन पर हावी न होने दें। व्यक्ति कई मौकों पर खुद को मूल्यहीन समझने लगता है। ऐसे में किसी भी तुलना से दूर रहते हुए खुद पर भरोसा...

Safalata ki Kahaniya - Success Stories

जिंदगी कभी निराश होना नहीं सिखाती

निराशा के क्षणों को कभी भी जीवन पर हावी न होने दें। निराशा के क्षणों को कभी भी जीवन पर हावी न होने दें। बल्कि जीवन के हताशा भरे क्षणों से कुछ सीखने का...

Safalata ki Kahaniya - Success Stories

चिंता ‘चिता’ समान और चिंतन ‘अमृत’ की तरह

आयुर्वेद में दो प्रकार के रोग बताए गए हैं। पहला, शारीरिक रोग और दूसरा, मानसिक रोग। जब शरीर का रोग होता है, तो मन पर और मन के रोग का शरीर पर बुरा प्रभाव...

Safalata ki Kahaniya - Success Stories

विचारों चमत्कार है

ऐसे बनती है अच्छी या बुरी आदत इस संसार में हम जो कुछ देखते हैं वह सब हमारे विचारों का ही मूर्त रूप है। यह समस्त सृष्टि विचारों का ही चमत्कार है। किसी भी...