खुशियों तक पहुंचने वाले रास्ते

Safalata ki Kahaniya - Success Stories

बहुत छोटे-छोटे सूत्र हमें जिंदगी के बड़े सबक सिखा सकते हैं।

बहुत छोटे-छोटे सूत्र हमें जिंदगी के बड़े सबक सिखा सकते हैं। अमेरिकन साहित्यकार हेमिंग्वे के ऐसे ही सूत्र वाक्यों में जिंदगी का फलसफा छिपा है।

यह जरूरी नहीं है कि सारी चीजें हम अपने अनुभवों से ही देखें, दूसरों के अनुभवों से गुजरकर भी हम जीवन के सत्य और छाया से रूबरू हो सकते हैं।

साहित्य और कला इसमें हमारी मदद करते हैं। दिग्गज साहित्यकारों ने जीवन के विभिन्न पक्षों को हमारे सामने रखने का प्रयास किया है।

इन्हीं में से एक हैं अमेरिकन साहित्यकार अर्नेस्ट हेमिंग्वे। उन्होंने जिंदगी में जोखिम उठाए और तरह-तरह के अनुभव हासिल किए। तब ऐसे सूत्र निकाले जो सभी के लिए उपयोगी हो सकते हैं। किसी भी फलसफे को सतही तौर पर देखने के बजाय उन्होंने गहराई में जाकर उसे समझा और फिर दुनिया के सामने रखा।

चूंकि वे जिंदगी के कडवे-मीठे अनुभवों से गुजरे थे, तो चीजों के यथार्थ को भली-भांति जान पाए थे। इसी सत्य को उन्होंने अपनी रचनाओं में भी उद्घाटित किया।

उनके कुछ बेहतरीन सूत्र वाक्यों को देखें तो इनके गहरे अर्थ हमारे जीवन का मार्गदर्शन कर सकते हैं।

प्रतीक्षा न करें, पहल करें

हेमिंग्वे का एक वाक्य है सबसे आसान जवाब है कि मैं कर रहा हूं। इस वाक्य का अर्थ यही है कि अगर किसी काम में लगे हैं तो उसे निष्कर्ष पर पहुंचाने के बारे में सोचें, बीच में अटकाए न रखें कि अभी तो हम उसे कर रहे हैं।

अगर किसी के सामने प्रस्ताव रखने के बारे में सोच रहे हैं तो आगे बढ़कर तुरंत अपनी बात कहना चाहिए।

ऐसा करने का फायदा यह है कि अगर कोई इस प्रस्ताव से सहमत नहीं हुआ तो भी कयास लगाने से मुक्ति मिल जाएगी। अगर लगता है कि कोई खास तरह की नौकरी के पीछे जाना चाहिए तो रुकिए नहीं, उसका पीछा कीजिए।

बैठे रहने से केवल असफलता ही प्राप्त करेंगे या उससे भी बुरा ही होगा। इस तरह आप कहीं नहीं पहुंचने वाले।

प्रेम न हो तो साथ यात्रा नहीं

उस व्यक्ति के साथ किसी भी यात्रा पर मत जाइए जिससे आप प्यार नहीं करते। यह हेमिंग्वे का मशहूर सूत्र वाक्य है।

जब आप किसी से प्रेम नहीं करते तो उसके साथ छुट्टी मनाने से चिढ़ और खीझ ही महसूस होगी। ऐसी किसी भी यात्रा में आप समय को व्यर्थ गंवाता हुआ ही पाएंगे।

आप रुचियां बांट नहीं पाएंगे और पूरे रास्ते बोरियत ही महसूस करेंगे। साथ अच्छा हो तो यात्रा का आनंद दुगुना हो जाता है। इसलिए इस बात को हमेशा याद रखें कि जिनसे पटरी नहीं बैठती है उनके साथ यात्रा भी नहीं की जा सकती।

जो प्रिय है वह खोता नहीं

जिनसे आप प्रेम करते हैं, वे लोग आपके जीवन में आते और जाते रहेंगे लेकिन उनका प्रभाव आपके जीवन पर हमेशा बना रहेगा। भले ही उन प्रियजनों में दादी हो या फिर टीचर या फिर बचपन का कोई मित्र।

इस बात के आकलन के कोई मायने नहीं हैं कि किस व्यक्ति का कितना प्रभाव रहा लेकिन जिन्हें आप प्रेम करते हैं, उनका प्रभाव आप पर जरूर रहता है। इस तरह कोई भी तो आपसे दूर नहीं जाता बल्कि आपके भीतर हमेशा बना रहता है। जिनसे भी आप प्यार करते हैं उनकी भूमिका आपके जीवन में बनी रहेगी।

चोट से बनें मजबूत

कोई भी व्यक्ति ऐसा नहीं होगा जिसे जीवन में कोई चोट न पहुंची हो। हर किसी के जीवन में खराब दौर आता है, मुश्किलों भरा वक्त आता है। लेकिन उस दौर में आत्मविश्वास रखकर कठिनाइयों से आगे निकलने पर आप खुद को मजबूत बनाते हैं और भविष्य की चुनौतियों का मुकाबला करने की योग्यता हासिल करते हैं।

चुनौतियों के बीच से निकलें और मजबूत बनें। मुश्किलें आपको आगे बढ़ने का रास्ता भी सुझाती हैं।

निरर्थक को पहचानें

जैसे-जैसे आप जीवन में आगे बढ़ते हैं, दुख की बात है कि आपको जिंदगी में बहुत-सी चीजें बकवास नजर आती हैं। इसलिए भीतर ऐसी व्यवस्था पैदा करना जरूरी है कि हम चीजों को समझकर नीरस और ऊबाऊ चीजों से आगे बढ़ सकें।

जीवन में बहुत सारी चीजें हैं जिनका ज्यादा अर्थ नहीं होता और उन्हें झेलते रहने में कोई खास फायदा भी नहीं है। ऐसी चीजों के बीच फंसे रहने से कोई फायदा नहीं होता।

प्रेम पर खेद भी होता है

हेमिंग्वे मानते हैं कि यह निश्चित रूप से होता है कि हर पुरुष को जीवन में किसी खास लड़की से प्रेम करने का अफसोस होता है। यह सभी के साथ होता है। कुछ के साथ पहले होता है तो कुछ के साथ जीवन में आगे जाकर।

इससे बचने का कोई तरीका नहीं है। ऐसी किसी भी अफसोसजनक स्थिति में हमें बस यही स्वीकार करना चाहिए कि इस रिश्ते की तरफ हमने खुद कदम बढ़ाया था।

भरोसे का इंसान कैसे मिले

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि आप किसी पर भरोसा कर सकते हैं या नहीं तो उस पर भरोसा करके देखें। आपको पता चल जाएगा कि दूसरों पर भरोसा करना कितना ठीक है। दूसरों पर भरोसा करना हमेशा से एक कठिन और उलझन भरा काम रहा है लेकिन आप इसे आजमाकर ही जान सकते हैं।

कुछ लोग आपके भरोसे पर खरे नहीं उतरेंगे लेकिन कुछ ऐसे जरूर होंगे जो आपका विश्वास हासिल करेंगे। इस दूसरी तरह के लोगों पर आप हमेशा भरोसा कर सकते हैं।

कोई कुछ कहे, तो सुनो

जब भी कोई आपको कुछ समझाने की कोशिश कर रहा हो तो आपको उसकी बात ध्यान से और पूरी सुनना चाहिए। भले ही लोग आपको बहुत-सी फिजूल बातें बताते रहें लेकिन उन्हीं के बीच से काम की बातें मिलती हैं।

सुनना एक तरह का ध्यान है, यह आपको सहनशील बनाता है। जब भी कोई व्यक्ति उसके विचार व्यक्त कर रहा हो, तो आपको बहुत ध्यान से सुनना चाहिए।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

67 − 64 =