नवदुर्गा द्वितीय स्वरूप माता ब्रह्मचारिणी

माता दुर्गा के नव स्वरूप

शारदीय नवरात्र का आज से शुभारंभ हो गया है। आज से नौ दिन तक मां शक्ति के स्वरूपों की आराधना की जाएगी

नवरात्र पर्व के दूसरे दिन “माता ब्रह्मचारिणी” की पूजा-अर्चना की जाती है ।

दधाना करपद्माभ्यामक्षमालाकमण्डलू।
देवी प्रसीदतु मयि ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा॥

माता शैलपुत्री का उपासना मंत्र
Navaratri Durga Brahmacharini

भगवान शिव से विवाह हेतु प्रतिज्ञाबद्ध होने के कारण ये ब्रह्मचारिणी कहलायी | ब्रह्म का अर्थ है तपस्या ओर चारिणी यानी आचरण करने वाली| इस प्रकार ब्रह्मचारिणी का अर्थ हुआ तप का आचरण करने वाली |

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

forty four − = 38