Category: देवी देवताए

Dharma Darshan

कैसे हुआ हनुमान जी का जन्म

वायु पुत्र यूं तो भगवान हनुमान जी को अनेक नामों से पुकारा जाता है, जिसमें से उनका एक नाम वायु पुत्र भी है। जिसका शास्त्रों में सबसे ज्यादा उल्लेख मिलता है। शास्त्रों में इन्हें...

Dharma Darshan

दानवीर कर्ण

कर्ण कुंती का पुत्र था कर्ण कुंती का पुत्र था। पाण्डु के साथ कुंती का विवाह होने से पहले ही इसका जन्म हो चुका था। लोक-लज्जा के कारण उसने यह भेद किसी को नहीं...

Dharma Darshan

महाभारत अर्जुन की प्रतिज्ञा

द्रोणाचार्य ने चक्रव्यूह की रचना की महाभारत का भयंकर युद्ध चल रहा था। लड़ते-लड़के अर्जुन रणक्षेत्र से दूर चले गए थे। अर्जुन की अनुपस्थिति में पाण्डवों को पराजित करने के लिए द्रोणाचार्य ने चक्रव्यूह...

Dharma Darshan

भगवान विष्णु जी और माता लक्ष्मी जी

भगवान विष्णु धरती पर पहुच गये एक बार भगवान विष्णु जी शेषनाग पर बेठे बेठे बोर होगये, ओर उन्होने धरती पर घुमने का विचार मन मै किया, वेसे भी कई साल बीत गये थे...