रक्षाबंधन की शुभकामना

रक्षाबंधन 2019

प्रत्येक वर्ष भाई बहन के प्रेम और स्नेह की भावना से रक्षा बंधन मनाया जाता है। हमारे रक्षा बंधन संदेश इस बार आपको अपने भाई या बहन की कामना करने में मदद करेंगे आपके व्हाट्सएपम इन्सटाग्राम और फेसबुक के लिए भी बहेतर है

Raksha Bandhan Status and Rakhi Quotes

ये लम्हा कुछ ख़ास हैं,
बहन के हाथों में भाई का हाथ हैं,
ओ बहना तेरे लिए मेरे पास कुछ ख़ास हैं
तेरे सुकून की खातिर मेरी बहना,
तेरा भाई हमेशा तेरे साथ हैं ….!!!

Raksha Bandhan Status and Rakhi Quotes

ये लम्हा कुछ ख़ास है ,
बहन के हाथों में भाई का हाथ है ,
ओ ! बहना तेरे लिए मेरे पास कुछ ख़ास है ,
तेरे सकून की खातिर मेरी बहना ,
तेरा भाई हमेशा तेरे साथ है।

Raksha Bandhan Status and Rakhi Quotes

आया राखी का त्यौहार ,
छाई खुशियों की बहार ,
एक रेशम की डोरी से बाँधा ,
एक बहन ने अपने भाई की कलाई पर प्यार।

Raksha Bandhan Status and Rakhi Quotes

फूलों का तारों का सब का कहना है। .
एक हज़ारों में मेरे भईया हैं

Raksha Bandhan Status and Rakhi Quotes

चन्दन की डोरी ,फूलों का हार ,
आया सावन का महीना और राखी का त्यौहार ,
जिसमें झलकता है भाई – बहन का प्यार

Raksha Bandhan Status and Rakhi Quotes
कभी हमसे लड़ती है, कभी हमसे झगड़ती है, लेकिन बिना कहे हमारी हर बात को समझने का हुनर भी बहन ही रखती है।

रिश्ता है जन्मों का हमारा , भरोसे का और प्यार भरा ,
चलो भईया, इसे बाँधे राखी के अटूट बँधन में

Raksha Bandhan Status and Rakhi Quotes

राखी कर देती है, सारे गिले-शिकवे दूर …
इतनी ताकतवर होती है कच्चे धागों की पावन डोर

Raksha Bandhan Status and Rakhi Quotes

याद है हमारा वो बचपन , वो लड़ना – झगड़ना और वो मना लेना ,
यही होता है भाई – बहन का प्यार ,
और इसी प्यार को बढ़ाने के लिए आ रहा है रक्षा बंधन का त्यौहार। …

Raksha Bandhan Status and Rakhi Quotes

बहन चाहे सिर्फ प्यार – दुलार,
नहीं माँगती बड़े उपहार ,
रिश्ता बने रहे सदियों तक ,
मिले भाई को खुशियां हज़ार..

Raksha Bandhan Status and Rakhi Quotes

सूरज की तरह चमकते रहो ,
फूलों की तरह महकते रहो,
यही दुआ है इस बहन की आज कि
आप सदा खुश रहो।
बहन की तरफ से भाई को राखी की हार्दिक शुभकामनाएँ।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifty two + = fifty seven